Advertisement
Reach Indians and South East Asians living in Australia

छोटे बच्चों को COVID-19 वैक्सीन के बारे में कैसे समझायें?

 छोटे बच्चों को COVID-19 वैक्सीन के बारे में कैसे समझायें?

COVID-19 (कोरोना वायरस)… एक ऐसी बीमारी या एक ऐसा संक्रामक रोग जिससे हर कोई परिचित है। यहां मेरे हर कोई कहना का अर्थ है बच्चे या बड़े सब इस बीमारी से परिचित हैं, लेकिन इस बीमारी के इलाज से जुड़े कई सवाल बच्चे प्रायः पूछ ही लेते हैं क्योंकि उनके लिए घरों में कैद रहना सबसे ज्यादा कठिन रहा। वैसे तो कोविड-19 पर तकरीबन ब्रेक तो लग ही चुका है, लेकिन इस बीमारी से बचाव के लिए जितना मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग और हाथ धोना जरूरी है उतना ही वैक्सीन लेना भी। वैसे तो बच्चे अक्सर इंजेक्शन (सूई) के नाम से डर जाते हैं, लेकिन आज इस आर्टिकल में हम आपके साथ छोटे बच्चों के साथ COVID-19 के टीकों के बारे कैसे बात करें यह साझा करेंगे और साथ ही ऑस्ट्रेलिया के स्वास्थ्य एवं वृद्ध देखभाल विभाग (Australian Government Department of Health and Aged Care) की ओर से क्या सलाह दी गई है यह भी जानेंगे।

छोटे बच्चों से कैसे बार करें COVID-19 वैक्सीन के बारे में?

छोटे बच्चों को COVID-19 टीकाकरण के बारे में बताने से पहले माता-पिता या परिवार के बड़े सदस्यों को यह समझना सबसे ज्यादा जरूरी है कि अगर बच्चे की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम है, बच्चा किसी बीमारी का शिकार है या सेहत से जुड़ी कोई परेशानी है, तो ऑस्ट्रेलिया के स्वास्थ्य एवं वृद्ध देखभाल विभाग द्वारा यह सलाह दी गई है कि अगर ऐसे बच्चे जिनकी उम्र 6 महीने से 4 साल तक के बीच है, तो उन्हें भी COVID-19 टीका लगवाना चाहिए। आप चाहें तो शिशु रोग विशेषज्ञ यानी डॉक्टर से भी इसकी सलाह ले सकते हैं।

ऑस्ट्रेलिया के स्वास्थ्य एवं वृद्ध देखभाल विभाग की ओर से छोटे बच्चों के लिए COVID-19 टीकाकरण से जुड़ी सलाह क्या दी गई है?

स्वास्थ्य एवं वृद्ध देखभाल विभाग के अनुसार कुछ ऐसे सवाल हैं जिसे माता-पिता अपने बच्चों से पूछ सकते हैं। जैसे:

  • कोरोना वायरस के बारे में तो तुम जानते हो, लेकिन क्या तुम्हें कोरोना वायरस इंजेक्शन के बारे में पाता है?
  • तुमने पहले भी इंजेक्शन लिया है ना?

नोट: शिशु के बढ़ने के दौरान जैसे 9 महीने या 1 साल की उम्र के बाद अगर कोई इंजेक्शन लगाई जाती है, तो उन्हें इसका अंदाज़ा रहता और वह इंजेक्शन के नाम से ही डर जाते हैं। इसलिए COVID-19 टीकाकरण के बारे में उन्हें अवगत करवायें ना की डरायें।

पेरेंट्स को बच्चों की उम्र को ध्यान में रखते हुए COVID-19 टीकाकरण के बारे में समझाना चाहिए। उनके सामने इंजेक्शन के कारण होने वाली परेशानी जैसे बुखार आना या इंजेक्शन की जगह पर दर्द होना, ऐसी बातों पर उनका ध्यान केंद्रित ना होने दें। इस दौरान बच्चे को यह भी समझायें की जहां इंजेक्शन लगाई गई है वहां हल्का दर्द होता है, तो इससे परेशान नहीं होना चाहिए क्योंकि इंजेक्शन अपना काम कर रही है। आसान से शब्दों में समझाने के लिए आप यह कह सकते हैं कि अब तुम COVID-19 के इंफेक्शन से बच सकते हो।

वैसे कुछ बच्चे डॉक्टर के पास जाने या इंजेक्शन के बारे में सुनते ही बेचैन हो जाते हैं, तो ऐसी स्थिति में डॉक्टर से पहले बात करें।

बच्चों को COVID-19 वैक्सीन के सवालों का जवाब पेरेंट्स को कैसे देना चाहिए?

पेरेंट्स निम्नलिखित तरहों से बच्चों को COVID-19 वैक्सीन के सवालों का जवाब दे सकते हैं। जैसे:

  • प्रायः बच्चे इंजेक्शन के नाम से डरते हैं, इसलिए बच्चों को यह समझायें कि COVID-19 वैक्सीन लेने से वो खुद भी इंफेक्शन से दूर रहेंगे और घर के सदस्यों जैसे नाना-नानी, दादा-दादी या अन्य बुजुर्गों को भी इस बीमारी से बचने में मदद करेंगे।
  • COVID-19 वैक्सीन लेने के बाद वे स्कूल जा सकते हैं और अन्य बच्चों के साथ खेल भी सकते हैं।
  • पार्क में भी दोस्तों के साथ खेलने जा सकते हैं।
  • मॉल या गेम जोन भी जाया जा सकता है।
  • COVID-19 वैक्सीन लेने से इस बीमारी को बढ़ने से आप रोक सकते हैं।

इन अलग-अलग तरहों से आप बच्चों को COVID-19 वैक्सीन से होने वाले फायदों के बारे में समझा सकते हैं। वहीं बच्चों में वैक्सीन को लेकर बेचैनी ना हो इसलिए बेहतर होगा कि जान पहचान या ऐसे वैक्सीन सेंटर पर ले जायें जहां भीड़ नहीं होती हो। इंजेक्शन लगने के दौरान बच्चे को उनके पसंद की चीजें जैसे उनका पसंदीदा खिलौना दें और उन्हें बातों में व्यस्त रखें। इंजेक्शन लगने के दौरान बच्चे को इंजेक्शन देखने ना दें और सही तरह संभालें या पकड़ कर रखें।

नोट: माता-पिता चाहें तो बच्चों के लिए पहले से COVID-19 वैक्सीन की अपॉइंटमेंट ले सकते हैं।

COVID-19 वैक्सीनेशन से जुड़ी किसी भी जानकारी के लिए ऑस्ट्रेलिया के स्वास्थ्य एवं वृद्ध देखभाल विभाग (Australian Government Department of Health and Aged Care) के www.health.gov.au पर जा सकते हैं। आप चाहें तो National Coronavirus एवं COVID-19 Vaccine Helpline नंबर 1800 020 080 पर कॉल कर सकते हैं। कॉलिंग के दौरान अन्य भाषा में जानकारी के लिए 8 नंबर का विकल्प चुनें। अगर आप बधिर हैं, तो National Relay Service को 133 677 पर कॉल कर सकते हैं।

COVID-19 से बचाव के लिए ऑस्ट्रेलियाई सरकार द्वारा समय-समय पर आवश्यक जानकारी जन-जन तक पहुंचाने की पूरी प्रयास जारी है और इस प्रयास को सफल बनाने में आप सभी के सहयोग की विशेष आवश्यकता है।

Varsha Saini

Related post