Advertisement
Holi Festival Australia

गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान कोविड-19 का टीकाकरण

 गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान कोविड-19 का टीकाकरण

हम उन महिलाओं के बारे में बात कर रहे हैं, जो बच्चों को स्तनपान कराती है, गर्भवती है अथवा गर्भधारण के बारे में सोच रही हैं।

यह महिलाएं Comirnaty (Pfizer) और Spikevax (Moderna) नामक टीका ले सकती हैं अन्यथा Nuvaxovid (Novavax) या Vaxzevria (Astra Zeneca) जैसे कोविड-19 का टीका भी ले सकती हैं। गर्भधारण की किसी भी अवस्था में इसे लिया जा सकता है।

गर्भवती महिलाओं तथा उनके होने वाले बच्चे में कोविड-19 होने की संभावना अधिक होती है। गर्भवती महिलायें जो कोविड-19 से ग्रसित हो जाती हैं, उन्हें अस्पताल जाने तथा दूसरी चिकित्सा एवं देखभाल की आवश्यकता होती है।कोविड-19 गर्भवती महिला तथा उसके अजन्मे बच्चे पर अपने दुष्परिणाम डाल सकता है। ऐसी महिलाओं में समय से पहले (37सप्ताह) शिशु होने की संभावना बढ़ जाती है।

टीकाकरण ही इन जोखिमों से बचने का सबसे बेहतर उपाय है। कोविड-19 टीकाकरण के पहले चरण के दौरान इन महिलाओं को दो महीने के अंतराल पर Pfizer या Moderna टीके की दो डोज़ की जरूरत होती है, पर जो महिलाएं कमज़ोर है,जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमज़ोर है या जिनमें कोविड-19 के लक्षण विकसित करने की अधिक संभावना है उन्हें खुराक के बीच कम अंतराल का सुझाव दिया जाता है।

ऐसी महिलाएं जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बेहद दुर्बल है, उन्हें दूसरी प्राथमिक डोज़ लेने के आठ हफ्तों बाद कोविड-19 वैक्सीन की तीसरी प्राथमिक डोज़ ले लेनी चाहिए।

वास्तविक दुनिया के आंकड़े यह दर्शाते हैं कि गर्भवती एवं स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए Pfizer और Moderna बिल्कुल सुरक्षित हैं। Novovax या Astra Zeneca के टीके भी असुरक्षित तो नहीं है पर गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं में उनकी सुरक्षा को लेकर कम डाटा ही उपलब्ध है।इसीलिए इन टीकों को प्राथमिकता नहीं दी जाती है।

Breastfeeding

क्या गर्भवती एवं स्तनपान कराने वाली महिलाओं को बूस्टर और चौथी खुराक लेनी चाहिए ?

समय के साथ-साथ टीकों के प्रभाव भी घटने लगते हैं, पर बूस्टर डोज़ कोविड-19 के खिलाफ हमारी सुरक्षा कवच को और भी मजबूती प्रदान करता है। सभी गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को बूस्टर की खुराक लेने की सलाह दी जाती है अगर:

  • उनकी उम्र 16 या उससे ज्यादा की हो तथा
  • उन्होंने कोविड-19 टीकाकरण के अंतर्गत प्राथमिक कोर्स की अंतिम खुराक कम से कम 3 महीने पहले ही ले ली हो।

12 से 15 वर्ष की कुछ महिलाएं बूस्टर डोस लेने योग्य हो सकती हैं यदि

  • उन की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमज़ोर हो
  • उनका स्वास्थ्य गंभीर या जटिल रूप से असक्षम हो
  • उनमें अनेक स्वास्थ्य संबंधी कमजोरियां हो जो कोविड-19 विकसित होने के खतरों को अधिक बढ़ावा दे सकती हो

गर्भवती और दूध पिलाने वाली महिलाओं को कोविड-19 की चौथी वैक्सीन लेने की सलाह दी जाती है। सोलह या उससे अधिक उम्रवाली गर्भवती और स्तनपान कराने वाली औरतों को बूस्टर डोज़ के तीन महीने बाद ही चौथी डोज़ लेनी चाहिए अगर

  • उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमज़ोर है
  • उन्हें किसी तरह का कैंसर है या हो चुका है
  • उन्हें ऑटोइम्यून रोग है,जिसमें इलाज की आवश्यकता है
  • उन्हें स्वास्थ्य संबंधी गंभीर रोग है,जो उनके गुर्दे, फेफड़े, हृदय, लिवर और मस्तिष्क को प्रभावित करता हो
  • उन्हें मधुमेह है और जिसके इलाज की आवश्यकता है
  • वे स्वास्थ्य संबंधित जटिलताओं के साथ विकलांग है
  • उनका वजन गंभीर रूप से अत्याधिक कम या ज्यादा है

यदि आपको इस तथ्य का ज्ञान ना हो कि बूस्टर या चौथी डोज़ ले अथवा नहीं तो अपने चिकित्सक से संपर्क करें।

गर्भावस्था के दौरान कोविड-19 टीकाकरण के बाद होने वाले संभावित प्रभाव क्या है?

कोविड-19 टीकाकरण के बाद संभावित प्रभाव निम्नलिखित हैं

  • बुखार
  • बाहों में दर्द
  • सिरदर्द
  • मांसपेशियों में दर्द
  • जोड़ों में दर्द
  • ठिठुरन

टीकाकरण के बाद यदि आप इनमें से कोई भी लक्षण महसूस करते हैं, तो इनके प्रभाव घटाने के लिए आपको पैरासिटामोल लेनी चाहिए।वैसे पैरासिटामोल गर्भावस्था के सभी चरणों में ही लिया जा सकता है एवं यह बिल्कुल सुरक्षित भी है।

गर्भावस्था के दौरान कोविड-19 टीकाकरण से मेरे बच्चे को कौन से लाभ हो सकते है?

गर्भावस्था के दौरान जिन महिलाओं को कोविड-19 हो जाता है ,वे मृत शिशु या अपरिपक्व शिशु को जन्म दे सकती हैं। प्रसव के बाद इनमें पीड़ा या इन्हें नवजात शिशु गहन चिकित्सा कक्ष में देखा जा सकता है। इन खतरों से बचने का सबसे उचित तरीका कोविड-19 टीकाकरण है।

वैज्ञानिक अनुसंधान के अनुसार गर्भवती महिलाओं में कोविड-19 टीकाकरण के बाद विकसित एँटीबॉडीज़ आँवल-नाल से गुजर सकता है एवं गर्भावस्था में टीकाकरण करवाने से 6 महीने से कम आयु वाले शिशुओं में कोविड-19 होने के खतरे भी बहुत कम हो जाते हैं।

Pfizer

स्तनपान कराने वाली महिलाओं को क्या सलाह दी जाती है ?

स्तनपान कराने वाली महिलाओं को Pfizer और Moderna टीका लेने की सलाह दी जाती है। यदि आप यह नहीं लगवा सकती तो आपको Novavax या Astrazeneca ले लेनी चाहिए।अधिक जानकारी के लिए अपने चिकित्सक से संपर्क करें।

टीकाकरण से पहले और बाद में अपना स्तनपान कराना जारी रखें।

मां बनने की योजना बना रही महिलाओं को क्या सलाह दी जाती है?

मां बनने की योजना बना रही महिलाओं को Pfizer और Moderna टीकाकरण की सलाह दी जाती है। गर्भावस्था के पूर्व टीकाकरण कराने से महिलाएं गर्भावस्था के दौरान कोविड-19 के संभावित लक्षणों से सुरक्षित रह सकती हैं।

कृपया ध्यान दें कि

  • कोविड-19 टीकाकरण के पूर्व तथा पश्चात आपको गर्भ ना धारण करने की कोशिश नहीं करनी चाहिए।
  • टीकाकरण से प्रजनन क्षमता प्रभावित नहीं होती है।
  • टीकाकरण से पहले आपके गर्भावस्था की जांच आवश्यक नहीं है।

अधिक जानकारी हेतु

अपना टीकाकरण प्राप्त करने के लिए www.health.gov.au इस वेबसाइट पर जाएं

यदि कोविड संबंधित कोई प्रश्न है,तो अपने डॉक्टर से बात करने के लिए इस वेबसाइट पर जाएं health.gov.au/covid-19-vaccines-languages या राष्ट्रीय कोरोनावायरस हेल्पलाइन को 1800 020 080 पर कॉल करें। निशुल्क दुभाषिया सेवाओं के लिए विकल्प 8 चुने।

Varsha Saini

Related post