Advertisement
Holi Festival Australia

कोरोना से डरना नहीं है, खुद को रखें दिमागी तौर पर मजबूत 

 कोरोना से डरना नहीं है, खुद को रखें दिमागी तौर पर मजबूत 

यह समय कोरोना का है। हर बार लगता है कि कोरोना चला गया पर यह फिर से वापसी कर लेता है। लाखों लोग इसके कारण मारे जा चुके हैं और करोड़ों बीमार। जाहिर है इसको लेकर हर किसी को तनाव रहता है। लगता है कहीं कोरोना परिवार के किसी सदस्य को अपना शिकार न बना ले। हर समय डर बना रहता है कि कहीं किसी अपने को कोरोना के कारण खोना न पड़े। अब यह डर तो ठीक है। कारण कि इससे आप कोरोना को लेकर सतर्क रहते हैं और इससे बचने के उपाय करते हैं लेकिन अगर यही डर बहुत ज्यादा मन में बैठ जाए तो इसका नुकसान हो सकता है। खासकर तब, जब आप या आपके परिवार का कोई सदस्य इस रोग से संक्रमित हो चुका हो।

तो सबसे अच्छा यही है कि आप कोरोना से डरकर रहें लेकिन बहुत ज्यादा नहीं। इसके होने के कारणों को समझें और बीमारी से बचने को उपाय करें। अगर, फिर भी आप या आपके परिवार का कोई सदस्य कोरोना से संक्रमित हो जाए, तो धैर्य बनाए रखें और सही इलाज कराएं। इस दौरान डर को अपने दिमाग पर हावी न होने दें। ऐसी स्थिति में मानसिक रूप से खुद को मजबूत रखना आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी है। तो आइए, आपको बताते हैं कैसे आप खुद को दिमागी रूप से इस बीमारी के होने से पहले या होने के समय मजबूत रख सकते हैं।

  1. अच्छी दिनचर्या बनाए रखें। अच्छी दिनचर्या का मतलब समय से सोएं और समय से जागें। नियमित व्यायाम और योग करें। संतुलित आहार लें। खान-पान में ऐसी चीजों का इस्तेमाल करें, जो हेल्दी हों।
  2. अपनों से संपर्क में रहें। दोस्तों से लेकर माता-पिता, भाई-बहन, पत्नी, बच्चे व रिश्तेदारों से बात करते रहें। खुद को खाली न रखें। सभी के हाल-चाल लेने से समय भी अच्छा बीतेगा और आप खुश भी रहेंगे। इसके साथ ही किसी के बीमार होने पर आपको तत्काल जानकारी भी मिल सकेगी। इसके साथ ही जरूरत पड़ने पर आप उनकी या वे आपकी समय पर मदद कर पाएंगे।
  3. घर में जरूरी दवाएं और राशन पर्याप्त मात्रा में रखें। जिससे अगर कभी आप या आपके घर के सदस्य बीमार पड़ें तो आपको दिक्कत न हो। इसके बावजूद अगर दवा या राशन की कमी पड़ जाए तो मदद मांगने में संकोच न करें। अपने किसी भी मित्र या रिश्तेदार से तुरंत मदद मांगें।
  4. शराब, तंबाकू या किसी भी तरह के नशे से खुद को दूर रखें। अगर ऐसा नहीं कर सकते तो कम से कम इस्तेमाल करें। कारण, यह आपकी बीमारी को और बढ़ा सकता है। साथ ही आपके शरीर को कमजोर करेगा।
  5. अगर आपको समाचार पढ़ने, सुनने या देखने से तनाव हो रहा है तो इसे भी कम कर सकते हैं। दिन में आधे-एक घंटे से ज्यादा समाचार न पढ़ें और न देखें और न सुनें। सोशल मीडिया से भी थोड़ी दूरी बनाएं। अगर जरूरी ही हो तो विश्वसनीय खबरें ही पढ़ें। अगर इंनरनेट आपके यहां नहीं है तो अपने जानने वालों को कहें कि नई जानकारी वाली खबरें रोज आपको बताए। इससे आपको सरकार द्वारा किए जा रहे कोरोना पीड़ितों को मदद के बारे में जानकारी मिल सकेगी।
  6. अगर आपका किसी मानसिक बीमारी का इलाज चल रहा है तो उसकी दवा नियमित रूप से लेते रहें। साथ ही डाक्टर द्वारा बताई गई सभी सावधानियों का सतर्कता से पालन करें। अगर फिर भी कोई परेशानी महसूस हो तो तुरंत डाक्टर से संपर्क कर अपनी परेशानी बताएं।
  7. सबसे जरूरी बात यह है कि खुद को सकारात्मक रखें। खुश रहें। किसी भी समस्या होने पर यह याद रखें कि सबसे जरूरी है खुद को सुरक्षित रखना। अगर आप सुरक्षित रहेंगे तो किसी भी समस्या का हल आज नहीं तो कल आप कर सकते हैं लेकिन अगर समस्या से परेशान होकर आपने अपनी तबियत खराब कर ली और जान चली गई तो फिर समस्या और बढ़ जाएगी।

इन उपायों को आजमा कर आप खुद भी स्वस्थ रह सकते हैं और अपने जानने वालों को भी। हां, इसके बावजूद आपको कोरोना से संबंधित कोई जानकारी लेनी है और कोई दुभाषिया चाहिए तो आप टीआइएस नेशनल (TIS National) को 131450 पर कॉल कर समस्या बता सकते हैं। इसके अलावा बियोन्ड ब्लू (Beyond Blue) भी सलाह और मदद मुहैया कराती है। आप उससे beyondblue.org.au पर संपर्क कर सकते हैं। 1300 22 4636 पर फोन और वेबचैट के जरिए भी Beyond Blue से सहायता मांग सकते हैं।  बियोन्ड ब्लू के अलावा Lifeline भी संसाधन एवं सलाह प्रदान करती है। आप 24 घंटे और सातों दिन में कभी भी 131114 पर फोन कर इससे संपर्क कर सकते हैं।  0477131114 पर टेक्सट (text) मैसेज आप शाम 6 बजे से मध्यरात तक या ऑनलाइन चैट www.lifeline.org.au/crisis-chat (शाम 7 बजे से मध्यरात तक कर सकते हैं। Department of Health and Human Services (डीएचएचएस) सभी विक्टोरियावासियों के लिए कोरोना की सभी नई जानकारियां और सलाह मुहैया कराता है। आप www.coronavirus.vic.gov.au/translations पर जाकर इसे पढ़ सकते हैं। इसके अलावा आप Coronavirus hotline पर 1800 675 398 संपर्क कर 24 घंटे और सातों दिन में कभी भी बात कर सकते हैं।

आइए, अब झटपट जान लीजिए कोरोना के बारे में कुछ जरूरी बातें। यह आपके बहुत काम आएंगी।

कोरोना के लक्षण

  • बुखार
  • खांसी
  • थकान
  • स्वाद या गंध न आना
  • गले में खराश
  • सिरदर्द
  • खुजली और दर्द
  • दस्त
  • त्वचा पर चकत्ते आना या पैर की ऊंगलियों का रंग बदल जाना
  • लाल या सूजी हुईं आंखें
  • सांस लेने में दिक्कत

कोरोना से बचाव के तरीके

  • टीके का तीसरा डोज लगवा लें
  • घर पर बाहर से आने वाले व्यकित का हाथ-पैर जरूर धुलवा लें और उनसे दो गज की दूरी रखें
  • अतिथि के जाने के बाद उनके बैठने के स्थान को सैनेटाइज कर दें
  • घर के व्यक्ति अगर बाहर से आएं हैं तो उन्हें नहाने को कहें
  • उनके कपड़े धो दें
  • बाहर जाने पर मास्क जरूर पहनें
  • बाहर जाने पर लोगों से दो गज की दूरी बनाकर रखें
  • योग या कसरत नियमित करें

Varsha Saini

Related post